बनवासियों में शिक्षा की अलख जगा रहा जनसहयोग संस्था

  • जनसेवा ही है एकमात्र उद्देश्य

चंदौली : यूं तो जनसहयोग संस्था अपने नाम को हमेशा से चरितार्थ करती दिख जाती है. कभी ब्लड डोनेशन कैम्प लगाकर तो कभी गरीबों में खाना वितरण को लेकर अपने सामाजिक दायित्वों को पूरा करने की कोशिश में जुटी रहती है. लेकिन बुधवार को अपने तृतीय स्थापना दिवस के अवसर पर बनवासियों के बीच मनाया और उनमें शिक्षा की अलख जगाई.

चेयरमैन ने किया सम्मानित :

इस दौरान संस्था के अध्यक्ष अजीत सोनी की अगुवाई में रोड किनारे रहने वाले परिवार के बच्चों में निःशुल्क पाठ्य सामग्री (स्लेट, बालपोथी, चाक) व मिष्ठान का वितरण किया गया. साथ ही गोष्ठी आयोजित कर संस्था द्वारा विगत तीन वर्ष में समाज सेवा की दिशा में किए गए कार्यों पर भी रौशनी डाली गयी. इस दौरान चेयरमैन रवींद्रनाथ ने संस्था के कार्यों व समाज के प्रति उनके समर्पण को सराहा. साथ ही सदस्यों का माल्यार्पण करने के साथ ही प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया और इसी हौसले व जज्बे के साथ समाजसेवा के कार्य को आगे बढ़ाने के लिए प्रेरित किया.

कोरोना काल में सड़क उतरे संस्था के लोग :

उन्होंने कहा कि संस्था ने बिना किसी अनुभव के अपने युवा साथियों के साथ व सहयोग से कोविड काल में लोगों की सेवा करने का काम किया. कोविड काल में जब लोग इस महामारी से डरे व सहमे हुए थे तो उस वक्त संस्था ने अपने जान की परवाह किए गए असहाय, भूखे-प्यासे प्रवासियों की मदद की. संस्था के तमाम सदस्यों ने उन्हें भोजन कराया. उनकी प्यास व जरूरतों का ध्यान रखा.

रक्तदान शिविर के जरिये लोगों की कईओं को दी है जिंदगी :

इसके साथ ही संस्था ने रक्तदान जैसे पुनीत कार्य में बढ़-चढ़कर भागीदारी निभाई और लोगों को इस मुहिम से जोड़ा. अब संस्था गरीबों की सेवा के साथ-साथ उनमें शिक्षा की अलख जगाने का काम किया है. जो एक सराहनीय पहल है.

समाज को ऐसे लोगों की जरूरत

नीति आयोग में तैनात दिलीप सिंह ने भी संस्था कामकाज की सराहना की. कहा कि समाज को ऐसी संस्थाओं व ऐसी सोच रखने वाले व्यक्तित्व की जरूरत देश व समाज को है. क्योंकि आज भी बहुत से परिवार ऐसे हैं, जो आर्थिक तंगी, गरीबी के कारण अपनी भोजन, कपड़ा व शिक्षा जैसी बुनियादी जरूरतें पूरी नहीं कर पाते.

संस्था के सदस्यों का अहम रोल :

वहीं संस्था के अध्यक्ष अजीत सोनी ने संस्था के सभी सदस्यों के सहयोग को सराहा. कहा कि आज जो कुछ भी संभव हो पाया है, वह संस्था के सभी सदस्यों के सहयोग का परिणाम है. जिस समाज सेवा के मिशन को लेकर हम आगे बढ़े है,आगे भी ऐसे ही पूरी शिद्दत के साथ काम होंगे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *