लोकतंत्र को लाठी के दम पर दबाना चाहती है सरकार : रामगोविंद चौधरी

चंदौली : मुख्यमंत्री कार्यक्रम के दौरान सपा व सीओ सकलडीहा के बीच हुई झड़प मामले में सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव के निर्देश पर जांच करने के लिए नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी सहित 6 सदस्यों की टीम चहनिया पहुंची. जहां नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि सरकार लोकतंत्र को लाठी के दम पर दबाना चाहती है. निर्दोष सपा कार्यकर्ताओं और महिलाओं पर जिस प्रकार लाठियां बरसाई गईं हैं. उसे लेकर सपा सड़क से लेकर संसद तक आंदोलन करेगी. इसके साथ ही उन्होंने उक्त मामले की निंदा करते हुए कहा कि पुलिस ने उस दिन महिलाओं तक को पीटा भद्दी भद्दी गालियां दी यह घोर निंदनीय है. मैं सरकार से मांग करता हूं कि दोषी पुलिसकर्मियों पर कार्यवाही की जाए, और हमारे घायल नेताओं का स्वास्थ्य परीक्षण कराया जाए, इसके साथ ही जो मुकदमा समाजवादी पार्टी के नेताओं पर किया गया है तत्काल उसको वापस लिया जाए.

इस दौरान उन्होंने कहा कि अगर तत्काल इस पूरे मामले पर दोषी पुलिसकर्मियों के ऊपर कार्यवाही हुई तो ठीक है अन्यथा इस पूरे मामले को हम सदन में भी उठाएंगे. वहीं पीएम मोदी के वाराणसी दौरे को लेकर उन्होंने कहा कि वह वाराणसी वोट के लिए आ रहे हैं. उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार सभी मुद्दों पर फेल है. चाहे वह रोजगार का मामला हो, शिक्षा का मामला हो, स्वास्थ्य का मामला हो, किसानों का कर्जा माफ करने का मामला हो या किसान बीमा दुर्घटना में पैसे देने का मामला हो सभी मामलों पर बिल्कुल फेल हो चुकी है.

वहीं काशी विश्वनाथ कॉरिडोर के लोकार्पण को लेकर सपा के पूर्व मंत्री ओमप्रकाश सिंह ने कहां की बाबा विश्वनाथ मोदी के अवतरित होने बाद नहीं आए बल्कि पहले से ही थें. 12 ज्योतिर्लिंग में थे. मोदी जी ने ऐसा कौन सा काम कर दिया की यहां 18 मुख्यमंत्री और 12 राज्यपाल आ रहे हैं. यह केवल धर्म की राजनीति करने के लिए काशी आ रहे हैं. वही सपा द्वारा धर्म की राजनीति किए जाने के सवाल पर पूर्व मंत्री ओमप्रकाश सिंह अपने बयानों में फंसते दिखे. जिसके बाद नेता प्रतिपक्ष रामगोविंद चौधरी ने बयान को संभालने का प्रयास किया और कहा कि चाहे राम हो कृष्ण हो या मां दुर्गा हो सभी देवी-देवता समाजवादी पार्टी के लिए इष्ट देव है. लेकिन भारतीय जनता पार्टी के लिए वोट देव हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *